सभी समाचार एवं घटनाक्रम पर वापस जाएं
समाचार

न्यू हॉलैंड एग्रीकल्चर ने देश के सबसे बड़े बेलर 'बिग बेलर 890 प्लस' और 'रोल-बेल्ट 180' की डिलीवरी दी


दुनिया के सबसे प्रमुख कृषि उपकरण ब्राण्डों में एक न्यू हॉलैंड एग्रीकल्चर ने हाल में श्री सुखबीर सिंह धालीवाल (फार्म 2 एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड, लुधियाना) और उनकी टीम को देश का पहला बिग बेलर 890 प्लस प्रदान किया जो भारतीय बाजार में सबसे बड़ा बेलर है। श्री सुखबीर सिंह ने हाल ही में न्यू हॉलैंड की एक और मशीन रोल-बेल्ट 180 भी खरीदी जो भारत के सबसे बड़े राउंड बेलरों में एक है। एक आधिकारिक समारोह में श्री सुखबीर सिंह धालीवाल को मशीनों की चाभी दी गई जिसमें समारोह में क्षेत्र के प्रमुख किसान और न्यूहॉलैंड एग्रीकल्चर के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे।

फोर्स 2 एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड ने 2015 से कट्टर बनाने का काम शुरू किया। आज कम्पनी के पास 8 न्यू हॉलैंड बी.र 6090 राउंड बेलर, एक रॉल-बेल्ट 180 क्रॉपकटर, एक बिग बेलर 890 प्लस, दस 9010 ट्रैक्टर और 3 आरकेजी 129 जायरो रेक हैं। ये स्वतंत्र रूप से पंजाब के गांवों से बायोमास जमा करते हुए पराली जलने पर रोक लगा रहे हैं। फार्म 2 एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड केवल एक वर्ष 2018 में 20,000 एकड़ जमीन पर पराली जलने पर रोक लगाने में कामयाब रही थी। धान की पराली और गन्ने के कचरे एकत्र करने के लिए कम्पनी ने न्यूहॉलैंड उपकरण का लाभ लिया था।

न्यू हॉलैंड में क्रॉप सॉल्यूशन के व्यवसाय प्रमुख श्री संदीप गुप्ता ने बताया, "बिग बेलर सेगमेंट में न्यू हॉलैंड पिछले 25 वर्षों से अधिक समय से सबसे आगे है। इससे पूरी दुनिया में बदलाव आया है। फार्म 2 एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड को हमारा पहला बिग बेलर 890 प्लस डेलीवर करने की हमें खुशी है। तकनीक और इनोवेशन में हमारा ब्राण्ड सदैव सबसे आगे रहा है। नए बिग बेलर 890 प्लस के साथ न्यू हॉलैंड एग्रीकल्चर ने सक्षमता और शक्ति की दिशा में बड़ा मुकाम हासिल किया है। किसानों की आमदनी बढ़ाने और फसलों की पराली का स्थायी समाधान देने में कम्पनी ने बड़ा योगदान दिया है।"

नए बिग बेलर 890 मॉडल ने बेलर रेंज को उत्पादकता और सक्षमता को नई ऊंचाई दी है। यह 10 प्रतिशत तक ज्यादा सघनता के साथ कट्टर बनाने में श्रेणी में सबसे अच्छी गुणवत्ता देता है। 80 सेंटीमीटर चौड़ा और 90 सेंटीमीटर ऊंचा, गट्ठर तैयार करते हुए यह पलक झपकते ही पूरे खेत को साफ कर देता है। मशीन में कई को बाजार में कई खास फीचर हैं जो इसे सर्वश्रेष्ठ बनाते हैं जैसे पूरे दिन एक समान सघनता, गट्ठर का बेहतर आकार, लपेटन (सुतली) टूटने का कम खतरा, गर्म से गर्म मौसम में भी गट्ठर बनाना, गट्ठर का धीरे से गिरना, मेंटेनेंस आसान और सुलभ। पुआल और पराली के ठेकेदारों की यह पहली पसंद है और बायोमास का लाभ लेने देने में सर्वश्रेष्ठ है।

न्यू हॉलैंड एग्रीकल्चर के प्रयासों के परिणामस्वरूप भारत में अक्षय स्रोतों के माध्यम से ऊर्जा उत्पादन के लिए एक स्थायी समाधान प्रदान किया गया है। फसल कटाई, संग्रह और बायोमास परिवहन के साधनों की इसकी पूरी रेंज ने पर्यावरण प्रदूषण कम करने की बड़ी जिम्मेदारी निभाई है। पराली को खेत में जलाने के बजाय उससे बिजली बनाने की क्षमता प्रदान की है। प्रत्येक न्यू हॉलैंड बीसी 5060 बेलर धान के हर सीजन में इतने पराली का गट्ठर बनाने में सक्षम है जिससे पूरे साल 950 ग्रामीण घरों की बिजली पैदा की जा सके। यह पराली प्रबंधन से बड़े बदलाव और भारत की हवा की गुणवत्ता में बड़ा सुधार होने का प्रत्यक्ष प्रमाण है।

बेलर के लिए पूरक का काम जायरो रेक करता है जो पराली को एक जमा कर बेलर के लिए उसे उठाना आसान बनाता है। इससे बेलर की क्षमता 25 से 60 प्रतिशत बढ़ जाती है। पीटीओ के माध्यम से 35 से 40: के लिए कम ऊर्जा की जरूरत होती है इसलिए न्यूहॉलैंड का आरकेजी 129 जायरो रेक कम खेती करने वाले किसानों के लिए भी बहुत उपयोगी है।

भारतीय किसानों की मदद के लिए कम्पनी का समर्पित हेल्पलाइन के साथ टोल फ्री नंबर 1800 419 0124 है जो हिन्दी, अंग्रेजी और भारत की 8 अन्य क्षेत्रीय भाषाओं में कार्यरत है।



सभी समाचार एवं घटनाक्रम पर वापस जाएं


न्यू हॉलैंड एग्रीकल्चर a brand of CNH Industrial ©
शीर्ष पर वापस जाएँ